Home समाचार उत्तराखंड में शराब की दुकाने हुई बंद: ठेकेदारों ने ने की कोविड-19...

उत्तराखंड में शराब की दुकाने हुई बंद: ठेकेदारों ने ने की कोविड-19 टैक्स हटाने की मांग।

246
0

उत्तराखंड में शराब की दुकाने हुई बंद: ठेकेदारों ने ने की कोविड-19 टैक्स हटाने की मांग: लॉकडाउन 4.0 में उत्तराखंड सरकार ने कई दुकानों को खोलने का निर्देश दिया हैं। जिसे लोगो को उनकी सभी जरूरत का सामान प्राप्त हो सके। ऐसे में शराब की दुकानों का भी खुलना तय हैं क्योकि इसे आबकारी विभाग को जो भी नुकसान हुआ हैं उसका थोड़ा भुगतान तो किया जा सकता हैं। पर अब उत्तराखंड के ठेकेदार आबकारी विभाग की बातो को नहीं मान रहे हैं।

ठेकेदारों ने आबकारी विभाग को यह फैसला सुना दिया हैं कि जब तक उनकी माँगो को माना नहीं जाता तब तक सभी शराब की दुकाने अनिश्चित काल के लिए बंद रहेगी।

आबकारी विभाग ने सभी ठेकोदारों से बात भी की थी पर ठेकेदार किसी भी तरह के समझोते के लिए तैयार नहीं हैं उन्हे अपनी सभी माँगो को पूरा करवाना हैं। और यदि सरकार उनकी माँगो को नहीं मानेगी तो वह अपनी शराब की दुकाने बंद ही रखेगे।

ठेकेदार रामकुमार जायसवाल ने बताया कि 23 मई 2020 को ठेकोदारों की आबकारी विभाग के साथ बैठक थी। जिसमे आबकारी विभाग ने ठेकेदारों की माँगो को मानने से इंकार कर दिया हैं। तो अनिश्चितकाल तक हड़ताल के अलावा ठेकेदारों के पास अब कोई भी विकल्प नहीं बचता हैं।

उत्तराखंड में शराब के ठेकेदारों की माँगे-

ठेकेदारों का कहना हैं कि जब से शराब पर कोरोना टैक्स लगा हैं तब से उन्हे बहुत ज्यादा नुकसान खेलना पड रहा हैं। एक महीने से उनकी बिक्री नहीं हुई हैं और इसके बाद सरकार ने कोरोना टैक्स लगा दिया जिसके बाद ग्राहकों का आना दुकान पर बिलकुल बंद सा हो गया हैं। इसके अलावा भी ठेकेदारों की निम्नलिखित मांगे हैं।

  • कोरोना टैक्स को शराब से हटाया जाए।
  • मार्च या उसे पहले का जेपी भी स्टॉक खत्म न हुआ हो उसका रिफ़ंड मिले।
  • शराब और बीयर पर 25% पर टैक्स लगा दिया जाए।
  • शराब कारोबारियों पर दर्ज़ मुक़दमे वापस हो।

अब देखना यह हैं कि उत्तराखंड में शराब हड़ताल कब तक जारी रहती हैं और आबकारी विभाग किस तरह इस से निपटता हैं। अभी तो फिलहाल इतना ही कह सकते हैं कि सोमवार से उत्तराखंड में शराब कि दुकाने बंद रहेगी और सभी ठेकेदार अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल पर चले जाएगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here