Home समाचार Legendary Satyajit Rey, महान फिल्मेकर सत्यजीत रे का 97 जन्मदिन।

Legendary Satyajit Rey, महान फिल्मेकर सत्यजीत रे का 97 जन्मदिन।

35
0

Legendary Satyajit Rey, महान फिल्मेकर सत्यजीत रे का 97 जन्मदिन। आज महान फिल्मेकर सत्यजीत रे का 97वा जन्म दिन हैं। उन्होने बॉलीवुड जगत में एक बहुत बड़ा योगदान दिया हैं। उनके द्वारा बनाई गयी फिल्मों से लोगो का बहुत मनोरंजन हुआ। साथ ही उन्होने पूरी दुनिया में एक अलग पहचान बनाई। वो एक लेखक, चित्रकार, फ़िल्म निर्देशक सब थे। उन्होने अपनी कला के द्वारा लोगो का मनोरंजन किया था। आज हम यहा पर सत्यजीत रे से संबधित कुछ तथ्यों का वर्णन करने जा रहे हैं साथ ही उनकी जीवनी का भी वर्णन होगा। जिसे आप उनको अच्छे से जान पाएगे।

कौन हैं सत्यजीत रे?

सत्यजीत रे एक महान फ़िल्म निर्दशक हैं। उन्होने अपने जीवन काल में बहुत सी फ़िल्मे लिखी और उनका प्रसारण भी किया। तथा लोगो के बीच उनकी एक अलग पहचान भी बनी। सत्यजीत रे का जन्म 2 मई 1921 में कोलकत्ता में हुआ था। उनके पिता का नाम सुकुमार राय और माता का नाम सुप्रभा देवी था। वो एक प्रभावशाली निर्देशक थे। तथा उनके जीवन में उन्होने हर तरह की बातों का सामना किया था। सत्यजीत रे देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी बहुत लोकप्रिए थे। और उनकी द्वारा लिखी तथा बनाई गयी फिल्मों को लोगो द्वारा बहुत प्यार मिला था। 23 अप्रैल 1992 में सत्यजीत रे की मृत्यु हो गयी थी। तथा उन्होने अपनी आखिरी साँस कोलकाता में ली थी।

सत्यजीत रे द्वारा निर्देशित की गयी फ़िल्मे-

  • अपाराजीतों (1956)।
  • द वर्ल्ड ऑफ अपू (1959)।
  • चारुलता (1964)।
  • देवी (1960)।
  • जलसागर (1958)।
  • तीन कन्या (1961)।
  • द बिग सिटी (1963)।
  • द म्यूजिक रूम (1958)।
  • अभिजान (1962)।
  • द चेस प्लेयर (1977)।

ये फिल्मेकर सत्यजीत रे द्वारा बनाई गयी कुछ लोकप्रिए फ़िल्मे हैं। जिन्होने एक अलग पहचान बनाई। लोगो ने इन फिल्मों को एक अलग प्यार दिया था। तथा सत्याजीत रे ने इन फिल्मों के  द्वारा समाज के सामने आईना रखा था।

सत्यजित रे एक ऐसे परिवार से नाता रखते थे जहा कला का एक अलग विकास था। उनके घर में हर व्यक्ति किसी एक कला में निपुर्ण तथा और सत्यजीत के अंदर भी निर्देशन, लेखन और चित्रकारी की कला का एक विशेष स्थान था। आज उनके 97वे जन्म दिवस पर हर व्यक्ति उन्हे याद कर रहा हैं तथा उनके द्वारा बनाई गयी फिल्मों की छवि के बारे में बात कर रहा हैं। सत्यजीत रे की किसी से तुलना करना असभंव हैं क्योकि उनके जैसी महान व्यक्तित्व वाला व्यक्ति अभी तक जन्मा नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here