Home उत्तराखंड बिना पास उत्तराखंड में प्रवेश करने वाले प्रवासी श्रमिकों पर लगे मुक़दमे...

बिना पास उत्तराखंड में प्रवेश करने वाले प्रवासी श्रमिकों पर लगे मुक़दमे लिए जाएगे वापस, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया फरमान।

175
0

बिना पास उत्तराखंड में प्रवेश करने वाले प्रवासी श्रमिकों पर लगे मुक़दमे लिए जाएगे वापस, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया फरमान: लॉकडाउन के चलते जहा सब लोग कोरोना के डर से अपने घरो में रह रहे थे। वही दूसरी ओर एक एस वर्ग भी था जो पैदल ही अपने घर को निकाल गया था। और वह थे प्रवासी श्रमिक। भारत में लॉकडाउन के समय प्रवासी मजदूरो का रोजगार छिन गया था। उनके पास खाने तक को पैसा नहीं थे। तो ऐसे में वह अपने घर के लिए पैदल ही निकाल गए थे।

उत्तराखंड राज्य में भी ऐसे कई प्रवासी श्रमिक थे जो बिना किसी व्यवस्था के पैदल यात्रा करके ही अपने घरों को आ गए थे। केंद्र सरकार कहा था कि यदि को भी व्यक्ति किसी दूसरे राज्य में जाना चाहता हैं तो इसके लिए उसे ई-पास बनवाना आवश्यक होगा।

यदि कोई भी व्यक्ति बिना पास के दूसरे राज्य में जाता हैं। तो उसके खिलाफ कानूनी कारवाई की जाएगी। ऐसे में उत्तराखंड के अंदर आए हुए प्रवासी श्रमिकों पर भी उत्तराखंड सरकार ने कारवाई की थी। तथा सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ कर लिया था।

पर अब सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया हैं प्रवासी श्रमिकों पर बिना पास के राज्य में दाखिल होने पर जो भी मुक़दमे दायर किए गए हैं। उन सभी को वापस लिया जाएगा। जिसके बाद डीजी एलओ अशोक ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बिना अनुमति राज्य में दाखिल होने पर जो भी मुक़दमे प्रवासी श्रमिकों पर चलाये गए थे। वह सब वापस होंगे। इसके लिए सभी जिलों के अधिकारियों को नोटिस भेज दिया गया हैं। और जल्द ही इस व्यवस्था पर काम भी शुरू हो जाएगा।

अब देखना यह हैं कि उत्तराखंड सरकार के इस फैसले के बाद मजदूरो की क्या प्रतिकृया होती हैं। अभी तो फिलहाल सभी मजदूर मनरेगा योजना के तहत काम पर वापस लग गए हैं। जिसे सभी मजदूरो का लालन पोषण अच्छी तरह हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here