Home समाचार दुखद: मशहूर फुटबॉलर चुन्नी गोस्वामी का 82 वर्ष की आयु में निधन,...

दुखद: मशहूर फुटबॉलर चुन्नी गोस्वामी का 82 वर्ष की आयु में निधन, कोलकत्ता में ली आख़िरी सांस।

58
0

Chuni Giswami Death, Reason of Death, Funeral Updates Live Video: वर्ष 2020 मे पूरी दुनिया में कोरोना वाइरस जैसे संक्रमण से लाखो लोगो की जान चली गयी और सभी देश इस वाइरस से लड़ने के लिए एक साथ मिलकर चल रहे हैं। वही दूसरी तरफ भारत में भी ये वाइरस अपना कहर दिखा रहा हैं और इसके साथ ही बॉलीवुड जगत से एक के बाद एक बुरी खबरों का सिलसिला भी जारी हैं। महानायक इरफ़ान खान और ऋषि कपूर के निधन के प्रश्चात आज एक और महान खिलाड़ी का निधन हो गया। जिसने इस देश को कई सारे गौरव के पल दिये।

मशहूर फुटबॉलर चुन्नी गोस्वामी का तड़के 5 बजे निधन हो गया। वो कई बीमारियों से लड़ रहे थे। सूत्रो के अनुसार 82 वर्ष की आयु में दिल का दोरा पड़ने से उनका निधन हो गया। और बंगाल ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया शोक में डूब गयी।

सूत्रो के अनुसार देर शाम उनको सीने में दर्द की शिकायत हुए जिसके बाद उनके परिवार ने उन्हे कोलकत्ता के एक हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। डॉक्टरर्स ने उनका चेकअप शुरू किया। इसके साथ ही उन्होने बताया की चुन्नी गोस्वामी को मधुमेह, प्रोस्टेट्स, और तंत्रिका तंत्र जैसी बीमारियों से लड़ रहे थे। परंतु इसके बाद ही अचानक उन्हे दिल का दोरा पड़ा और उनकी मृत्यु हो गयी। उनकी मृत्यु के समय उनकी पत्नी बसंती और उनके दोनो बेटे उनके साथ मौजूद थे। चुन्नी गोस्वामी की मृत्यु के प्रशचात ही पूरा परिवार शोक में डूब गया।

कौन थे चुन्नी गोस्वामी?

चुन्नी गोस्वामी 1962 में एशियाई खेलो मे स्वर्ण पदक जीतने वाली टीम का नेत्तृत्व किया था। वह उस फुटबॉल टीम के कैप्टन थे और उनकी कप्तानी ने भारत को फुटबॉल में एक स्वर्ण पदक हासिल हुआ। फुटबॉल के साथ ही चुन्नी गोस्वामी बंगाल की तरफ से प्रथम श्रेणी में क्रिकेट भी खेले और वो एक सफल गेदबाज़ के रूप में साबित हुए। इसके साथ ही उन्हे कई पुरस्कारों से भी सम्मानित कीय गया जिसमे उन्हे पध्मश्री और अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही उन्हे बंगाल के अवार्ड से भी नवाज़ा गया। चुन्नी गोस्वामी ने वर्ष 1962 में एशिया के सर्वश्रेष्ट स्टाइकर के अवार्ड से भी नवाज़ा गया।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF)

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ ने भी फुटबॉलर चुन्नी गोस्वामी के निधन पर दुख जताया और ट्विट्टर पर अपनी प्रतिकृया देते हुए लिखा कि “यह सुनकर दुख हुआ की मशहूर फुटबॉलर चुन्नी दा नहीं रहे। उन्होने हमेशा देश को गौरवशाली पल दिये हैं। और फुटबॉल के जगत में वो एक स्वर्ण पीढ़ी थे। उन्हे हमेशा याद रखा जाएगा।“

AIFF के बाद BCCI ने बी अपने टिवीटर हैंडल के जरिये चुन्नी गोस्वामी को याद किया व उनके क्रिकेट में योगदान के लिए भी उनका धन्यवाद किया। चुन्नी गोस्वामी की मृत्यु बहुत ही दुखद हैं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे व उनके परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करे। फुटबॉल के जगत के महान खिलाड़ियो में चुन्नी गोस्वामी का नाम शुमार हैं और उनके द्वारा जीते गए पलो को हमेशा याद रहा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here