Home समाचार नेपाल की संसद में पास हुआ नया नक्शा, अब सबूतों की तलाश...

नेपाल की संसद में पास हुआ नया नक्शा, अब सबूतों की तलाश में भटक रहा हैं नेपाल।

122
0

नेपाल की संसद में पास हुआ नया नक्शा, अब सबूतों की तलाश में भटक रहा हैं नेपाल: भारत और नेपाल के बीच सीमा को लेकर विवाद गहराता जा रहा हैं। एक तरफ जहा भारत नेपाल के साथ एक पड़ोसी की तरह व्यवहार कर रहा हैं। वही दूसरी ओर नेपाल भारत के क्षेत्रों को हासिल करने के लिए हर जुगत आजमा रहा हैं।

कल ही नेपाल की संसद में नेपाल के नए नक्शे को पास करने के लिए वोटिंग हुई थी। जिसमे नेपाल ने भारत के तीन हिस्सो कालापानी, लिम्पियाधुरा, और लिपुलेख को नेपाल का हिस्सा बताया हैं। संसद में नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा औली ने नए नक्शे का जिक्र किया जिसके बाद वोटिंग हुई और नेपाल का नया नक्शा दो तिहाई वोटो से पास हो गया।

अब नेपाल अपने नए नक्शे को नेशनल असेंबली में भेजना होगा जिसके लिए सबसे पहले उसे अपने नए नक्शे के लिए सबूतों को इकट्ठा करना होगा। नेपाल इस बात को कई बार मान चुका हैं कि उसके पास नए नक्शे के लिए किसी भी तरह के सबूत नहीं हैं। और वह भारत के साथ बातचीत करके इस मुद्दे को सुलझाना चाहता हैं। पर वह भारत के तीनों हिस्सो को लेकर रहेगा।

आपको बता दे कि नेपाल की इस हरकत के पीछे ओर किसी का नहीं बल्कि चीन का हाथ हैं। चीन पहले से ही छोटे देशो को अपने आधीन लेकर उसे अपने दुश्मनों के खिलाफ इस्तेमाल करता हैं। इसे पहले वह पाकिस्तान की तरफ से भी भारत को परेशान कर चुका हैं। और अब वह नेपाल के साथ भी यही हरकत आजमा रहा हैं।

अब यह देखना दिलचस्प होगा कि नेपाल किस तरह अपने नए नक्शे के लिए सबूतों को इकट्ठा करता हैं। गौरतलब की बात हैं कि जब नेपाल के पास अपने नए नक्शे के लिए कोई सबूत ही नहीं हैं तो वह कैसे भारत के क्षेत्रों को अपना बता सकता हैं। फिलहाल भारत भी बातचीत करके इस मुद्दे को सुलझाना चाहता हैं। क्योकि नेपाल के साथ उसके रिश्ते अच्छे थे। पर अभी सिर्फ चीन की वजह से दोनों देशो के बीच विवाद दिखता उत्पन्न हो रहा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here