Home समाचार अमेरिका ने रोका भारत का “वंदे मातरम” मिशन, एयर इंडिया पर लगाया...

अमेरिका ने रोका भारत का “वंदे मातरम” मिशन, एयर इंडिया पर लगाया भेदभाव का आरोप।

133
0

अमेरिका ने रोका भारत का “वंदे मातरम” मिशन, एयर इंडिया पर लगाया भेदभाव का आरोप: कोरोना वाइरस के काल में भारत ने अपने नागरिकों के लिए बहुत सी योजनाओ का शिल्यानास किया हैं। जिसके चलते हर भारतीय नागरिक पूरी मजबूती के साथ इस बीमारी से लड़ पाये। इसी के चलते केन्द्र सरकार ने 4 मई 2020 को विदेश में फँसे हुए भारतीय नागरिकों को लाने के लिए एक “वंदे मातरम” मिशन का ऐलान किया था।

जिसके अंदर स्पेशल फ्लाइट के द्वारा विदेश में फँसे सभी भारतीय नागरिकों को वापस भारत लाया जाए। तथा इस योजना के पहला चरण 18 मई 2020 को शुरू भी हो गया था। और केंद्र सरकार की इस योजना से कई लोग वापस भारत भी आ रहे थे। “योगगुरु बाबा रामदेव ने बनाई कोरोनावाइरस को रोकने की पहली आयुर्वेदिक दवा, 7 दिन में कोरोनिल टैबलेट से ठीक हुए 100% मरीज”

अब अमेरिका ने भारत के “वंदे मातरम” मिशन को भेदभाव पूर्ण बताते हुए इस मिशन को रोक दिया हैं। अमेरिका ने कहा हैं कि भारत के एयर इंडिया विमान के माध्यम से अमेरिका व दुनियाभर में फँसे अपने नागरिकों को वापस ला रहा हैं। पर वह अमेरिकी विमान कंपनियों के चाटर्ड विमानों को भारत-अमेरिका मार्ग पर चलने की अनुमति नहीं दे रहा हैं।

अमेरिका ने कहा हैं कि भारत का यह रेवेया बहुत ही भेदभाव पूर्ण हैं। और इसी के चलते अमेरिका, भारत के “वंदे मातरम” मिशन पर 22 जुलाई 2020 से रोक लगाने जा रहा हैं। 22 जुलाई के बाद अमेरिका मे फँसे हुए भारतीय नागरिकों को भारत वापस नहीं ला पाएगा।

अमेरिका के परिवहन विभाग ने सोमवार को ईके बयान जारी किया था जिसमे उन्होने कहा था कि एयर इंडिया के किसी भी विमान को 22 जुलाई के बाद से भारत-अमेरिका के मार्ग पर अनुमति नहीं दी जाएगी। क्योकि भारत सरकार, अमेरिकी विमान को उड़ने का मार्ग नहीं दे रहा हैं। और भारत का यह व्यवहार बहुत ही भेदभाव पूर्ण और बुरा हैं।

तो अब 22 जुलाई 2020 के बाद अमेरिका भारत के विमानों को अपने मार्ग पर उड़ाने की अनुमति नहीं देगा। अभी तक केंद्र सरकार का इस पूरे मामले पर कोई भी बयान सामने नहीं आया हैं। पर अब देखना यह हैं कि भारत सरकार इस विषय पर अमेरिका से क्या वार्तालाप करता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here